Thursday, 11 July 2013

मोदी जी का कहाँ कैसा प्रभाव रहेगा? Dr.S.N.Vajpayee

मोदीकाभाजपा,राजग एवं आगामी चुनावों पर प्रभाव!

  आगामी चुनावों में मोदी जी भाजपा के लिए और भाजपा मोदी जी के लिए तथा भाजपा और मोदी जी दोनों देश के लिए क्या कुछ कर सकते हैं?दूसरी बात देश की जनता मोदी जी के लिए ,भाजपा के लिए और राजग के लिए किसका कितना समर्थन कर सकती है?अर्थात किसका कितना समर्थन कर सकती है देश की जनता? यह देखना अत्यंत आवश्यक है!

       मोदी जी भाजपा के लिए और भाजपा मोदी जी के लिए शुभ है दोनों का दोनों से विकास होगा ज्योतिष की दृष्टि से इसमें संदेह नहीं किया जा सकता! दूसरी बात यह है चूँकि मोदी जी  भाजपा के माध्यम से ही देश का विकास कर सकते हैं किन्तु ज्योतिष की दृष्टि से एकाक्षर नाम दोष के कारण भारत पर भाजपा का शासन होते दिखता नहीं है।

    यही वह सबसे बड़ा कारण है कि जन जन के चहेते बेदाग अटल जी जैसे विराट व्यक्तित्व के धनी महापुरुष को भी सत्ता के शिखर तक भाजपा सीधे  नहीं ले जा सकी इसके लिए उसे राजग का गठन करना पड़ा था!इसका सम्पूर्ण कारण खोजने के लिए हमारा यह निम्न लिखित लेख गुग्गल पर सर्च करके पढ़ना चाहिए-

   (भारतवर्ष में भाजपा का भविष्य ज्योतिष की दृष्टि में >>>?

     इसके साथ ही नरेन्द्र मोदी के नाम पर नितीश अलग क्यों हुए इस विषय में समझने के लिए (इससे सम्बंधित  15-4-2013 को मेरे ब्लॉग पर प्रकाशित मेरालिखित सम्पूर्ण  लेख   क्या राजग टूटेगा? इस नाम  से है जो यहाँ उद्धृत किया जा रहा है) वो लेख गुग्गल पर सर्च करके पढ़ना चाहिए-

         क्या राजग टूटेगा? (15-4-2013)

   इसे पढ़ने से राजग टूटने का ज्योतिषीय कारण पता लग जाएगा। इसलिए भाजपा की अपनी भलाई राजग को बनाए और बचाए रखने में ही है इसी से सत्ता शिखर पर पहुँच सकती है भाजपा!

   अब दूसरी बड़ी बात यह है कि देश की जनता मोदी जी का कितना समर्थन कर सकती है?तथा भाजपा  और राजग के लिए कितना कर सकती है समर्थन!यह सोचना है।

      मुख्य बात यह है चूँकि भाजपा मुख्य विपक्षी दल है सरकार से कमियाँ रह जाना स्वाभाविक है जिसमें यह तो कमाई के लिए ठेके पर उठाई गई सरकार है इससे तो गलतियाँ होनी ही हैं जिसका लाभ मुख्य विपक्षी दल होने के नाते भाजपा को मिलना ही  है जिससे अन्ततः राजग ही लाभान्वित होगा |

     दूसरा बहुत बड़ा ज्योतिषीय कारण यह है चूँकि आगामी चुनाव जिस समय हो रहे हैं वो सात्विक समय है, ऐसा समय समाज के हर क्षेत्र में अधिकांश सतोगुणी, धार्मिक एवं ईमानदार लोगों को सफलता प्रदान करने वाला होता  है। यह  चुनाव भी समाज में ही होने हैं इसका असर चुनावों पर भी होगा जिसमें धार्मिक एवं सतोगुणी मुद्दे उठेंगे और ईमानदार लोग चुन कर आएँगे भी! वर्तमान समय शासन प्रशासन में व्याप्त भ्रष्टाचार नियंत्रित होगा।किसी ईमानदार एवं सजीव व्यक्ति के हाथ में देश की वाग्डोर हर हाल में पहुँचेगी यह सच है क्योंकि समाज का हर व्यक्ति सात्विकता एवं धर्म प्रधान होगा इसलिए धार्मिक वातावरण बनेगा और आसुरी शक्तियों का पराभव भी होगा।धार्मिक प्रतीकों के सम्बन्ध में उठाए गए मुद्दे निर्विवाद या सामान्य विवाद के साथ बातचीत के द्वारा ही निपटा लिए  जाते हैं।

     इसलिए विश्वास पूर्वक कहा जा सकता है कि यह समय19.6.2014 से प्रारम्भ होकर 14.7.2015 तक अयोध्या में श्री राम मंदिर निर्माण के लिए भी अत्यंत उत्तम होगा।जिसका अत्यंत प्रबल योग है। 

    इसलिए धर्मवान राम भक्तों के द्वारा यदि थोड़ी सी ज्योतिषीय सावधानी  बरती गई तो श्री राममंदिर निर्माण को रोका नहीं जा सकता बनेगा जरूर! और भव्य श्री राम मंदिर बनेगा यह भी निश्चित है।सर्व सम्मति से बनने के योग हैं। इसलिए रामभक्तों को निराश या हताश नहीं होना चाहिए और प्रयास करके तनाव नहीं बढ़ने देना चाहिए ।

        इस प्रकार वर्तमान समय के स्वभाव को ध्यान में रखते हुए कहा जा सकता है कि अभी तक के संभावित राजनेताओं में नरेन्द्र मोदी जी जनता के विश्वास पर खरे उतरते दिखते हैं। जिसमें उनकी अतीत में बनाई गई प्रतिष्ठा का लाभ भाजपा एवं राजग को होता दिखता है। इस समय नरेन्द्र मोदी जी के   सन्दर्भ में मैं इतना ही कहना चाहूँगा कि

इस नाम से मेरा लिखित सम्पूर्ण  लेख मेरे ब्लॉग पर प्रकाशित है जिसका कुछ अंश यहाँ उद्धृत करता हूँ-

नरेन्द्र मोदी जी- Sunday, September 17, 1950 Time of Birth: 11:00:00  Place of Birth: Mehsana

         मोदी जी की जन्म कुंडली के अनुसार उनमें एक कुशल प्रशासक की उत्तम क्षमता है जिसके अनुसार ही उन्होंने प्रतिपक्षियों को पराजित करके कई बार चुनाव जीते हैं।वर्तमान में ग्रह संयोग ही कहा जाएगा कि अब तक परिश्रम पूर्वक बनाई गई राजनैतिक साख एवं सामाजिक प्रतिष्ठा इस समय यदि सुरक्षित रखी जा सकी तो इसे भी  बड़ी  उपलब्धि के तौर पर देखा जाना चाहिए।निस्संदेह समय अब तक उनका सहयोगी रहा है किन्तु  अब से 30-11-2021तक का समय धीरे धीरे क्रमिक रूप से इतना अधिक राजनैतिक शैथिल्य दे देगा कि इस समय स्वजन विरोधियों के आगे कई बार न केवल हथियार डालने पड़ सकते हैं अपितु बढ़े हुए कदम भी वापस खींचने पड़ सकते हैं एक और बड़ी बात यह है कि मोदी जी के प्रति  लोगों में पूर्व स्थापित आकर्षण भी धीरे धीरे हल्का पड़ने  के योग हैं। ऐसी कमजोर ग्रहस्थिति का सामना करने वाले किसी भी जातक के लिए ऐसे समय किसी भी राष्ट्रीय  राजनैतिक पार्टी की प्रतिष्ठा बचा या बढ़ा पाना अत्यंत कठिन लगता है।फिर भी संयोग वश यदि प्रतिष्ठा पूर्ण  किसी राष्ट्रीय पद पर पहुँचने का कोई अवसर मिल ही जाता है  तो पूर्ण मनोयोग से परिश्रम पूर्वक एवं विशेष सहनशीलता के साथ निर्वाह करना चाहिए।इस बीच राजनैतिक साख एवं सामाजिक प्रतिष्ठा  यदि सुरक्षित  रखी जा सकी तो 30-11-2021  से  30-11-2028  तक का समय स्वाभाविक रूप से किसी महत्त्वपूर्ण  राष्ट्रीय या अंतर्राष्ट्रीय पद पर पहुँचाकर उत्कृष्ट प्रतिष्ठा प्रदान करेगा।  

        इन सब ज्योतिषीय बातों को ध्यान में रखते हुए कहा जा सकता है चूँकि नरेन्द्र मोदी जी का यह समय उनके अपने लिए अनुकूल नहीं है इसलिए इतनी सारी कवायत एवं बुराई भलाई निंदा आलोचना सुनने सहने के बाद भी नरेन्द्र मोदी जी को इससे तत्काल कुछ हासिल होते नहीं दिखता है।हाँ,उनके इस परिश्रम एवं प्रतिष्ठा का लाभ भाजपा एवं राजग को अवश्य मिलेगा !

     राजेश्वरी प्राच्यविद्या शोध  संस्थान की अपील 

   यदि किसी को केवल रामायण ही नहीं अपितु ज्योतिष वास्तु आदि समस्त भारतीय  प्राचीन विद्याओं सहित  शास्त्र के किसी भी  पक्ष पर संदेह या शंका हो या कोई जानकारी  लेना चाह रहे हों।

     यदि ऐसे किसी भी प्रश्न का आप शास्त्र प्रमाणित उत्तर जानना चाहते हों या हमारे विचारों से सहमत हों या धार्मिक जगत से अंध विश्वास हटाना चाहते हों या धार्मिक अपराधों से मुक्त भारत बनाने एवं स्वस्थ समाज बनाने के लिए  हमारे राजेश्वरीप्राच्यविद्याशोध संस्थान के कार्यक्रमों में सहभागी बनना चाहते हों तो हमारा संस्थान आपके सभी शास्त्रीय प्रश्नोंका स्वागत करता है एवं आपका  तन , मन, धन आदि सभी प्रकार से संस्थान के साथ जुड़ने का आह्वान करता है। सामान्य रूप से जिसके लिए हमारे संस्थान की सदस्यता लेने का प्रावधान  है।   


No comments:

Post a Comment